कोरोना वायरस पहुँचा झारखण्ड ,राज्य में मिले 4 संदिग्ध,जानिए किस तरह कर सकते है आप अपना बचाव ?

चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस पूरे विश्व में एक महामारी का रूप ले चुका है। कोरोना वायरस ने अब भारत में पैर पसारना शुरू कर दिया है।बुधवार को संक्रमित लोगो की संख्या बढ़कर 29 हो गयी,इनमे से 13 भारतीय और 16 विदेशी नागरिक शामिल है।

कोरोना वायरस को लेकर राज्य में अलर्ट जारी है।चीन और विदेश से आने वाले लोगों पर विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

रिम्स में बुधवार को कोरोना वायरस के 4 संदिग्ध मरीज़ों को भर्ती कराया गया है। इनमे से रांची निवासी एक नवदंपति शामिल है। छुट्टियां बिताने दोनों इंडोनेशिया गए थे। दोनों पति पत्नी को शरीर में दर्द,सर्दी और खाँसी की शिकायत थी।बुधवार सुबह रांची एयरपोर्ट उतरने के बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी द्वारा रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग को सूचना दी गई और संदिग्धों को जांच के लिए रिम्स भेजा गया। एक और संदिग्ध मरीज़ धनबाद के निरसा से है। 21 वर्षीय युवक किसी मोबाइल कंपनी के बुलावे पर चीन गया था।वह 16 फरवरी को चीन से भारत आया था। दिल्ली में 2 दिन की निगरानी के बाद 18 फरवरी को धनबाद भेजा गया था और जिला सर्विलांस टीम की निगरानी में रखा गया था। उसके बाद युवक को सर्दी,खाँसी और बुखार हुई तो उसे सिविल सर्जन कार्यालय बुलाया गया जहाँ से उसे रिम्स के आइसोलेशन वार्ड भेजा गया।
वही,पलामू के हैदरनगर निवासी 42 वर्षीय संदिग्ध मरीज चीन के वुहान से दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा। रांची एयरपोर्ट पहुंचते ही खुद से ही 108 एंबुलेंस को बुलाकर रिम्स पहुंचा।
चारो लोगो का ब्लड सैंपल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कॉलरा एंड इंटेरिक डिजीज(NICED) जाँच के लिए भेजे गए है।
रिपोर्ट 40-72 घंटे में आने की उम्मीद है।रिम्स के माइक्रोबायोलॉजी के विभागाध्यक्ष डॉ मनोज कुमार का कहना है की ब्लड रिपोर्ट आने के बाद ही कोरोना वायरस की पुष्टि होगी।
राज्य के मुख्य सचिव डॉक्टर डीके तिवारी ने कहा की राज्य में कोरोना वायरस से कोई पीड़ित नही है अभी बस 4 संदिग्ध की पहचान हुई है।

कोरोना के सभी संदिग्धों को फिलहाल रिम्स के आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। आइसोलेशन वार्ड में कोरोना वायरस के संदिग्ध के लिए अलग कमरे के साथ पांच बेड की व्यवस्था की गई है। उसी कमरे में इलाज के तमाम इंतजाम किए गए हैं। आइसोलेशन वार्ड में निगेटिव प्रेशर रूम नहीं होने के कारण किसी अन्य लोगों को बगैर एन 95 मास्क के अंदर जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है।

कोरोना वायरस के लक्षण :-

  • सरदर्द
  • खाँसी
  • सांस लेने में परेशानी
  • मांसपेशियों में दर्द
  • बुखार और थकान


हालांकि इन लक्ष्णों का ये मतलब नही है की आप कोरोना से संक्रमित है। जुखाम और फ्लू में भी इसी तरह के लक्षण पाए जाते है।

बचाव के उपाय :-

  • हाथों को साबुन या पानी से धोये या सेनिटाइजर का इस्तेमाल करे।
  • खाँसते समय टिश्यू या रूमाल का इस्तेमाल करे।
  • जो बीमार है उनके संपर्क में आने से बचे।
  • पूरी तरह से पका हुआ मांस या अंडा ही खाये।
  • जंगली जानवरो,पालतू पशुओं से दूर रहे।

कोरोना वायरस से जुड़ी बहुत से अफवाहों फैल रही है।
इसका वायरस शरीर से बाहर ज्यादा समय तक ज़िन्दा नही रह सकते है। तो अफवाहों से बचे और सावधनी बरते।

Leave your comments