जमशेदपुर में दो गुटों के बीच जमकर हुई गोलीबारी, कई लोग घायल, पढ़िए पूरी खबर

बुधवार रात 10 बजे भुइयांडीह डीएवी स्कूल के नजदीक (नीतिबाग़ कॉलोनी) सुधीर दुबे और अखिलेश सिंह गिरोह के बीच अंधाधुंध फायरिंग हुई। घटना में अखिलेश सिंह गिरोह के बागबेड़ा निवासी कन्हैया सिंह समेत 7 लोग घायल हो गए। सुधीर दुबे अपने साथियो के साथ काले रंग को स्कोर्पियो से भाग निकला।

घटनास्थल

जहाँ लॉकडाउन में पूरा शहर सील है इसके वाबजूद गैंगवार ने पुलिस प्रशासन पर सवाल खड़ा कर दिया है। घटना की सूचना मिलते ही सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट एवं अन्य पुलिस अधिकारी टीएमएच और घटनास्थल पर पहुचे। घटनास्थल से पुलिस ने खोखे बरामद किये। पुलिस ने टीएमएच में भर्ती घायलों से पूछताछ शुरू कर दी है।

घायलों ने बताया की सुधीर दुबे और कल्लू राय ने बुधवार शाम फ़ोन कर कन्हैया सिंह को फ़ोन कर सुलह के लिए बुलाया था। कन्हैया सिंह अपने साथियो के साथ भुइयांडीह पटेल नगर स्थित डीएवी स्कूल के नजदीक पहुँचा। वहां सुधीर दुबे भी अपने साथियो के साथ पहुँचा। बातचीत के बाद नीतिबाग़ कॉलोनी के समीप अचानक दोनों तरफ से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू हो गयी। जिस से वहां अफरातफरी मच गयी। फायरिंग में कन्हैया सिंह, उसके भाई सोमनाथ, राजकुमार मंडल, राजकुमार, अंशु चौहान, सचिन, विक्रम सिंह को गोली लगी है। कन्हैया सिंह को कंधे में गोली लगी है। वह पहले एमजीएम अस्पताल पहुँचा था जहाँ से उसे टीएमएच भेज दिया गया। अन्य लोगो को भी टीएमएच में भर्ती किया गया है।

घायल कन्हैया सिंह
टीएमएच में भर्ती घायल

गैंगस्टर अखिलेश सिंह गिरोह में पूर्व में कन्हैया सिंह और सुधीर दुबे के बीच काफी याराना था। माफिया डॉन अखिलेश सिंह का कभी सुधीर दुबे दायां हाथ माना जाता था. लेकिन पिछले करीब एक साल से वह अलग हो गया और अपना अलग गैंग बना लिया है।

Leave your comments