कविता के माध्यम से जानिए क्या है जमशेदपुर की विशेषताएं

जमशेदपुर वासी

जनाब, हम जमशेदपुर वासी है
हमारी हर बात निराली है,
मानवता का पाठ ये पढ़ाती है,
हर संकट से एक दूसरे को बचाती है,
देती हर कदम में ये सबका है साथ,
भाई साहब, हम जमशेदपुर वासी है।
हमारी कुछ अलग ही बात है।।

JRD Tata Stadium, Jamshedpur

बसा है ये स्वर्णरेखा के किनारे,
खरकाई के भी है यहाँ कुछ अलग ही नजारें ।
नाम है इसका जमशेदपुर,
लेकिन, कण-कण में बसता है टाटा स्टील हमारे।।

क्या हिंदू, क्या मुस्लिम,
क्या सिख, क्या ईसाई
सब यहाँ है भाई -भाई,
यहा दोस्ती की भी अनोखी एक मिसाल है,
जनाब, हम जमशेदपुर वासी है,
हममें कुछ अलग ही बात है ।।

If you also want your work to be published here!
Share it with us on editor@jamshedpurguru.in ❤️
Jubilee Park, Sakchi

जुबली की शाम कहो या
P & M मॉल की रात,
शंभु के पान कहो या
केवट के लिट्टी और बाबा की चाट
दिल्ली की बिरयानी कहो या
चौपाटी की वो जगमगाती रात,
यहाँ के हर स्टॉल में है एक अलग ही स्वाद ।
जनाब हम तो जमशेदपुर के रहने वाले है,
यहाँ के स्ट्रीट फूड की भी है कुछ अलग ही बात।।

अरे जनाब,
“मैं तो बताना भूल ही गयी”,
यहाँ तो त्यौहारों की भी अपनी अलग ही खासियत है,
आती है बात जब दुर्गा पूजा की,
काशीडीह के पंडाल कहो या मलखान सिंह की
होती इनसे अलग ही रौनक है।
वो जुम्मे की शाम साकची मस्जिद के नाम,
गुरुपर्व की भी होती अपनी अलग पहचान है।

Bistupur Main Road

लेकिन, स्वच्छता की बात हो या टैलेंट की,
हर चीज़ में हम अव्वल है ।
अरे, जनाब कुछ पल तो गुजारियें हमारे साथ,
हम जमशेदपुर में रहते है,
जनाब हम जमशेदपुर वासी है।।
हममें कुछ अलग ही बात है ।।।


This wonderful poem has been written by

Shilpa Singh

Follow her on Instagram : @shilpy2255
Get notified, whenever a new poetry gets published. Subscribe Now! it’s free!

Join 551 other subscribers.

4 thoughts on “कविता के माध्यम से जानिए क्या है जमशेदपुर की विशेषताएं”

  1. ये सिर्फ एक कविता नहीं, ये तो जमशेपुर की परछाई है।
    वाह शिल्पा जी वाह , आपने क्या खूबसरत कृति बनाई है।।

Leave your comments