India vs China

पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन के बीच जंग की खबरे सामने आ रही है, लेकिन क्या सच में ऐसा है या मुद्दा कुछ और ही है, आइये जानते है इस पुरे लेख में।

पहला सवाल है ये कहाँ पर हो रहा है ?

LAC यानि Line Of Actual Control ये भारत और चीन के बीच की लाइन है और ये भारत-पाकिस्तान की लाइन से बिलकुल अलग है, और इसकी सबसे बड़ी परेशानी ये है की ये दोनों देश कभी इस मुद्दे पर सहमत नहीं हो पाए की LAC असल में कहाँ से गुजरती है अगर मुख्यत: कहा जाये तो इसके तीन हिस्से है Western हिस्सा जो लद्दाख से गुजरता है Eastern हिस्सा सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से गुजरता है और Middle हिस्सा उत्तराखंड और हिमाचल से गुजरता है इसका सबसे विवादित हिस्सा है Western हिस्सा जो की लद्दाख के दायरे में आता है और यहां अभी तक विवाद चल ही रहा है।

दूसरा सवाल ये है की इस मुद्दे ने किस वक़्त से जोर पकड़ा है ?

ये पूरा मामला 4-5 मई को शुरू हुआ था, पर इससे समझने से पहले एक शब्द का मतलब आपको समझना होगा वो है TRANSGRESSION जिसका हिंदी में मतलब है उल्लंघन, और ये लद्दाख के इलाके में बहुत आम बात है क्यूंकि वहां पर LAC का मुद्दा स्पष्ट नहीं है और ऐसा ही एक उल्लंघन 4-5 मई को भी हुआ Pangong Tso लेक के पास, यहां दरअसल 8 Fingers है ये 8 फिंगर्स असल में 8 पहाड़ियां है और इन्ही पहाड़ियों से होकर गुजरती है LAC जहां पर भारत के जवान जा तो 8 नंबर की पहाड़ी तक है लेकिन उनके पास कंट्रोल केवल नंबर 4 तक ही है, ठीक इसी प्रकार चीन भी 8 से चलकर 2 तक आ सकता है लेकिन यहीं परेशानी शुरू होती है क्यूंकि जब वो 8 से चलते है तो 6 नंबर पहाड़ी तक आने के बाद ही भारतीय फ़ौज उन्हें देख सकती है इसके हल के लिए भारतीय फ़ौज 8 नंबर पहाड़ी पर एक निगरानी रखने के लिए पोस्ट बनाना चाहती थी जिस पर ये विवाद हुआ और तभी चीन की सेना ने कहा की अब आप केवल अपने कंट्रोल के इलाके तक ही आ सकते हो इसके आगे आपको आने की इज़ाज़त नहीं दी जाएगी और इसी कारण ये विवाद हुआ।

दूसरा विवाद भारत में Galwan Rivulet में Depsang मैदान में बनाए जा रहे 60 मीटर लंबे पुल को लेकर शुरू हुआ। यह जगह श्योक नदी के संगम के करीब है, यह पुल, एक बार पूरा होने के बाद, Karakoram Pass के दक्षिण में अंतिम सैन्य चौकी Daulat Beg Oldie तक सैनिकों को आसानी से पहुंचाएगा। सड़क की अनुपस्थिति में, यह चौकी Murgo से खच्चर गाड़ियों के माध्यम से सामान उपलब्ध कराती है। PLA( People’s Liberation Army ) ने 14, 15 और 17 के पैट्रोलिंग पॉइंट्स पर LAC की तरफ अपनी उपस्थिति को बढ़ा दिया। ये स्थान पूर्व से संगम तक लगभग छह किलोमीटर की दूरी पर हैं। वैसे तो चीन ने अभी तक कोई आक्रत्मक करवाई नहीं कि लेकिन ये चुप्पी ही चिंता का कारण बन रहा है।

तीसरा सवाल है इन विवादों का मुख्य: कारण ?

पिछले 1 साल में भारत चीन के बीच उलंघन के मुद्दों में 75% की वृद्धि हुई है और इसके कुछ मुख्य: कारण है !

1. जैसा की हमने आपको बताया की दो विवाद केवल निर्माण के मुद्दे के कारण हुए है और चूँकि लम्बे वक़्त से हमारी सेना ने वह निर्माण का कोई कार्य नहीं किया जिसके विपरीत चीन ने अपने कार्यो को जारी रखा और अब वो इस तरह की चीज़े कर भारत के कार्य को रोकना चाहती है, हालाँकि भारतीय सरकार ने अभी वहां पर काम को और तेज़ कर दिया है और ये जरुरी क्यों है भारतीयों के लिए तो खुदा ना खुदा ना खास्ता कभी अगर युद्ध की नौबत आती है तो हमारे पास सही तरह की सड़के मौजूद नहीं है अपने लोगो तक जरुरी चीज़े ले जाने के लिए।

2. LAC की समस्या दोनों देशो के लिए बहुत ही अव्यवस्थित है जैसा की हमने आपको ऊपर बताया, उसके अलावा ये लाइन एक लेक से होकर गुजरती है जिसका नाम है Pangong Tso लेक और चूँकि ये लेक पहाड़ी 4 और 5 के तरफ आती है और अगर चीन इस इलाके में हमपर हमला करता है तो इस इलाके में ये लेक ही पड़ती है और इस पर कब्ज़ा होना उस दल की शक्ति को बढ़ा देगा।

The Confusion In LAC

3. चीन दबाव की रणनीति का इस्तेमाल भारत पर कर रहा है इसका मुख्य: कारण है कई सारी विदेशी कंपनियों का चीन को छोड़ भारत में आना और भारत का चीन के करीबी दुश्मनो जैसे विएतनाम से हाथ मिलाना तो इस तरह के चीज़े कर चीन हम पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है।

4. सबसे मुख्य: कारण जो मेरे हिसाब से है वो यह है की चीन लोगो का उनके ऊपर से ध्यान हटाना चाहता है, क्यूंकि पिछले लम्बे समय से उसने अपने यहाँ के कोरोना के डाटा को तो छुपाया ही है साथ ही कई सरे देश चीन में जांच कराना चाहते है की आखिर कोरोना वहां से बहार निकला कैसे, तो इस तरह की हरकतों से वो लोगो का ध्यान कोरोना के मुद्दे से हटाकर युद्ध के मुद्दों पर डालना चाहता है।

जब ये मुद्दे गंभीर हुए तो अमेरिका के राष्ट्रपति ने भी ये मांग रखी की वो भारत और चीन के बीच मध्यस्थता करवाने के लिए तैयार है लेकिन इसके जवाब ने दोनों देशो ने ये कहा की वो आपसी बात-चीत से इन मुद्दों को सुलझा लेगी।

https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1265604027678670848?s=20

लेकिन शायद ये चीज़े जंग का रूप नहीं लेगी, और इन हालातो में दोनों ही देशो की भी यही कोशिश होगी, क्यूंकि जंग केवल और केवल अर्थव्यवस्ता का नुकसान करती है और कोरोना के इस दौर में कोई भी देश अपना नुकसान नहीं करना चाहेगा।

1 thought on “India vs China”

  1. Pingback: क्यों हटा Mitron और Remove China Apps Google Play Store से ?? – Jamshedpur Guru

Leave your comments