Neuralink : The Begining of Cyborg Era

चर्चा उस टेक्नोलॉजी के बारे में जो इंसान को Cyborg में बदल देगी। इस टेक्नॉलाजी का विकास कर रही है इस सदी के सबसे दूरदर्शी इंसान Elon Musk की कंपनी Neuralink.

2016 में जब Elon ने ये कंपनी बनाई तो इसके पीछे उनकी सोच ये थी की टेक्नोलॉजी और AI (Artificial Intelligence)  के क्षेत्र में हो रहे इतनी तेजी से विकास के कारण कहीं हम इंसान मशीन से पीछे ना रह जाए और मशीन हमसे आगे निकलकर हमपर ही हावी ना हो जाए। इन्हीं सब बातों को समझकर इस कंपनी को बनाया गया जो हमारे सबसे जटिल अंग मस्तिष्क को समझने में मदद करे और हमारी कुशलता और क्षमता को तेजी से विकसित करे और हमे Robotics और AI जैसे टेक्नोलॉजी के साथ चलने में मदद करें।

Current Motive of Neuralink

Neuralink जैसे कंपनी का फिलहाल ये उद्देश्य है कि मस्तिष्क की कार्यप्रणाली को समझना और चिप जिसे लिंक कहते हैं, उसे सर में लगाकर मस्तिष्क और और Spinal संबंधित बीमारियों और समस्याओं का इलाज खोजना।

Structure & Implantation Of Neuralink Chip

Neuralink  चिप के कुछ Versions आ चुके है जिसमें पहले वाले N1 Version में एक मशीन को कान के पीछे लगाया जाता था जिसमें Microprocessor और Charging का सेटअप होता था और उससे पतले पतले Electrodes निकले होते है जिन्हें Brain में घुसा दिया जाता था । लेकिन जो लिंक का Version अभी लॉन्च किया गया है वो एक सिक्के के आकार और बनावट का है और इस सिक्के जैसी चिप में Processor और Charging सिस्टम को डाला गया है और इस चिप से भी Electrodes निकले होते है जिसे इंसान के दिमाग में घुसाया जा सके। ये इलेक्ट्रोड बहुत ज्यादा पतले होते है करीब 0.0004mm की और ये सोने से बनी होती ताकि ये आपके Brain में React ना करे। अभी लॉन्च की गई चिप में 1024 चैनल है। इस चिप की बैटरी बैकअप 1 दिन की है और इसे वायरलेस तरीके से चार्ज किया जा सकता है।

क्योंकि ये चिप काफी ज्यादा पतली है इसलिए किसी इंसान के द्वारा इसे लगा पाना संभव नहीं है इसलिए उन्होंने एक Robot इसी काम के लिए बनाया है। ये चिप के Implantation के लिए आपकी खोपड़ी को ड्रिल किया जाएगा और उसके जरिए चिप को आपके सर में लगाया जाएगा । पूरा Implantation के बाद किसी को पता ही नही चलेगा की किसी इंसान ने इसे लगाया हुआ है। इसका Implantation एक घंटे में किया जा सकता है और एक बार चिप लग जाने के बाद इसे कभी भी आसानी से हटाया या अपग्रेड किया जा सकता है और इनका कहना है कि ये सब करने से इंसानों कोई परेशानी नहीं होगी ।

Experiment And Demonstration

Neuralink इस कंपनी ने इस चिप को सुअरों पर टेस्ट करके देखा है जिसके अच्छे परिणाम आए है जिनमे से कुछ को तो Elon ने Demonstrate करके भी दिखया है। जैसे कि जब सूअर अपनी नाक से किसी सतह को छु रहे थे तो ये लिंक एक खास तरह की सिग्नल भेज रहे थे इसके अलावा सुअरों के द्वारा किया गया हरेक काम को ये चिप अलग अलग सिग्नल के रूप में Sense कर रही थी और Computer में Show कर रही थी।

उन्होंने कई Brain Activities की Reading ली है जिससे वो कुछ खास चीजें पता करना चाह रहे है जैसे  कि जब कोई सूअर जब चलता है तो उसके Neuron Body को किस तरह के सिग्नल भेजेते है और उनका Pattern क्या है। इन Readings का इस्तेमाल करके वो Implanted अंग या Robotic Arm जैसे चीजें को Neural Signal भेजा जा सकेगा और अगर किसी बीमारी के कारण ये Signal अगर प्राकृतिक मार्ग यानी की Nervous System से नहीं पहुंच पा रहे है तो उन्हें किसी और रास्ते से भेजा जा सकता है। इस तरह से ये टेक्नोलॉजी इंसानों में कई तरह की विकलांगता को खत्म करने का क्षमता रखता है। और अभी तो इसे आगे के Experiments के लिए FDA ( The Food And Drug Administration)  से भी Permission मिल गई है।

Future Results And Consequences Of This Technology

निकट भविष्य में तो इस टेक्नोलोजी का प्रमुख उद्देश्य यही है कि इंसानी दिमाग को समझना और इस समझ का इस्तेमाल करके लोगो की विकलांगता को खत्म करना । जैसे की अगर किसी के हाथ- पैर नहीं तो उसे शरीर में Implant करके उसे काम करने लायक बनाया और इसके साथ साथ जैसे किसी की आंखे चली गई हो या सुनने की क्षमता चली गई हो तो उसे Camera से देखने और Microphone से सुनने की ताकत देना और ना जाने क्या क्या !!

Courtesy : The Psychiatry & Psychotherapy Podcast

लेकिन दूरगामी भविष्य में ये टेक्नोलोजी कितनी ही Sci-Fi  फिल्मों को सच कर सकती है जैसे इसका विकास Telekinesis  को संभव कर सकता है। इंसानों को सीधे मशीन और Computer से जोड़ सकता मतलब ऐसा हो जाए की भविष्य में लोग फोन में ना घुसे रहे फोन ही लोगो के शरीर में घुस जाए। यादों को Store करना संभव हो जाए लोग अपनी Consciousness को Computer में Upload कर पाए । खुद को एक Robot के अंदर डाल पाए और ना जाने कितनी ही ऐसी चीजें Neuralink की Development भविष्य में हमे संभव करके दिखा ही दे । मतलब ऐसा हुआ तो स्कूल में पढ़ने की जरुरत ही नहीं सारी पढ़ाई दिमाग में Download  कर लो ।

लेकिन इससे एक नए तरह का भी डर और अपराध हो सकता जैसे Brain Hacking जैसे चीजें भी ये टेक्नॉलाजी ना दिखा दे जो भी हो ये तकनीक मानवता के लिए एक नए युग का रास्ता खोल सकती है। जिस इंसान ने इसे विकसित करने के बारे में सोचा है वो अपनी कहीं हुई बात को सच करके दिखाने के लिए मशहूर है देखे ये Neuralink कब शुरुआती Level  पर सफल होता है और कितने ही विकलांग लोगो को मदद करता है।

This Article Is Contributed By Sahil Kumar. Subscribe To His Youtube Channel For Some Great Informative Videos.

Leave your comments