How IPL Earns Money

IPL का 12वॉ Season जो कोरोना के कारण लग रहा था कि धुल जाएगा पिछ्ले सप्ताह यानी 19 सितंबर से शुरू हो गया है। Indian Premier League, India में ना सही UAE में हो रही है। इसके आयोजन के लिए BCCI ने कितनी मेहनत की है ये बात भी किसी से छुपी नहीं हुई है। चाहे इस कोरोना संकट के बीच खेल का आयोजन करना हो या पहले से प्रस्तावित T20 विश्व कप को अगले साल तक के लिए स्थगित करना हो। तो इन सब से ये सवाल तो बनता ही है, कि क्या IPL, BCCI के लिए इतना ज्यादा जरूरी है कि इसके आयोजन के लिए वो विश्व कप जैसे बड़े Tournament को स्थगित करने को तैयार है ? तो इसका उत्तर यह है कि IPL ना सिर्फ एक बहुत बड़ा Tournament है बल्कि एक बहुत बड़ा Business भी है जो कि BCCI के Revenue का एक बहुत बड़ा Source है।

How Big IPL is on Numbers

Revenue के मामले में IPL एक बहुत बड़ा Tournament है। Duff & Phelps के अनुसार पिछले साल IPL का Revenue 45000 करोड़ रुपए था। कमाई के मामले में IPL दुनिया की आठवीं सबसे बड़ी Sports League है और इस स्थान La Liga के ठीक बाद है।

हम सब IPL में आने वाले पैसे का अंदाजा इसी बात से लगा सकते है कि Dream11 ने सिर्फ IPL की Title Sponsorship के लिए ही BCCI को 222 करोड़ रुपए दिए है। यही नहीं IPL की जब Media Rights को Star Network ने 5 साल के खरीदा था तब उन्होंने इस Deal के लिए 16000 करोड़ से भी अधिक पैसे दिए थे।

इससे भी BCCI को IPL में बहुत Sponsorship मिलती है। ये सब उसे बहुत ज्यादा Revenue देते है। BCCI इन सब पैसे का 40% खुद के पास रखती है और 60% IPL खेलने वाली Teams यानी की Franchise में बांट देती है। वैसे ये Formula समय-समय के साथ बदलता रहता है जैसे कि पहले ये अनुपात 70:30 था।

Where Franchise Spend Their Major Money

Franchise BCCI से मिलने वाले पैसों से Players खरीदती है, जिन्हें Auction में खरीदा जाता है हर Team के Wallet में एक Fixed पैसे होते है जिसका वो Auction में इस्तेमाल करती है जो कि इस बार 80 करोड़ था। हर team में कम से कम 16 player तो होने ही चाहिए और जिसमें अधिक से अधिक 4 विदेशी players हो सकते है।

इसके बाद Team के बाकी सदस्य जैसे कि Support Staff का भी खर्च Franchise ही उठाती है। इसके ऊपर से Players को खिलाना, पिलाना, प्रैक्टिस कराना एक जगह से दूसरी जगह ले जाना और खिलाड़ियों के सारे ख़र्चे उठाना भी Franchise को ही करना पड़ता है। इन सब के बदले ये Franchise बढ़िया Return चाहती है और इसका Source सिर्फ IPL की Prize Money नहीं हो सकती क्योंकि 20 करोड़ रुपए तो विराट कोहली जैसे बड़े खिलाड़ी पर ही खर्च हो जाते है। इसलिए Franchise के पास भी बहुत सारे Source है Revenue Collect करने के।

How Does Franchise Earns Money
1. Revenue Share From BCCI

Franchise के कमाई का पहला Source तो BCCI से मिलने Revenue में हिस्सेदारी हो गई। जो कि अकेले ही एक अच्छी-खासी राशि होती है।

2. Earning From Sponsorship

हर Team Sponsorship से भी बहुत पैसे बनाती हैं और ये तो पूरी तरह से दिखता ही है Teams की Jersey में हर तरफ Brands के नामों और Logo से भरी पड़ी होती है। आप किसी भी Team की Jersey उठा कर देख लीजिए आपको सर से लेकर पैर तक सिर्फ Ads ही भरे होते है और इन सभी Ads का पैसा सीधा Franchise की जेब में ही जाता हैं।

3.Sales Of Teams Official Merchandise

Team की Merchandise बेच कर भी Franchise अच्छा Revenue जमा कर लेती है । ये Team की Official Jersey, Sports Kit, Magazine और ना जाने क्या-क्या चीजें ये Official बोल बोल कर बेच देती है।

4. Match Broadcasting

हर मैच की Broadcasting से जो पैसा आता है, उसका कुछ हिस्सा BCCI और Match खेलने वाली Teams के Franchise को भी जाता है। इस कारण जो Team जितना ज्यादा आगे जाती है और जिस Match में जितने दर्शक आते है उसे उतना फायदा होता है।

5. Earning From Home Stadium

जब कोई Team अपने Home Stadium में खेलती है तो वहां के Tickets, Tenders और वहां लगने वाले सारे Ads के Banner और Holdings से मिलने वाले पैसे में भी कुछ हिस्सा Franchise ही रखती है। जो कि इस बार के IPL में उनके पास नहीं जा पाएगा क्योंकि इस बार का IPL तो India में हो ही नहीं रहा है और ना ही इस बार Stadium में दर्शक आ रहें है तो यह Source तो इस बार नहीं काम कर पाएगा।

5. Player Treading

Auction के अलावा भी दो Team के बीच Players की खरीद बिक्री होती है और ये भी Team Owner की Income में जुड़ता है।

6. Free Ads From Team And Players

Franchise के पास ये अधिकार होता है कि वो अपनी टीम या अपने खरीदे हुए Players से Free में Ads करवा सकती है। इन Ads के बदले Franchise को Players को अलग से पैसे नहीं देने पड़ते हैं और इस वजह से Ads से मिलने वाले सारे पैसे Franchise अपने पास रख सकता है। जो Team Owner को दो तरह से फायदा देता है वो दूसरी Brands से मिलने वाले Ads का पैसा अपने पास रख सकता है और अपने Brand के Advertisement के लिए उसे अलग से पैसे भी नहीं देने पड़ते है।

कुल मिलाकर इतने तरीके हैं IPL से Franchise द्वारा पैसे कमाने के और इतना करने के बाद भी अगर कोई Franchise नुकसान में होती है। तो भी ये उसके लिए नुकसान नहीं है क्योंकि ये 50 दिन चलने वाले IPL में ही अपने ब्रांड का इतना ज्यादा Promotion कर देती है कि जितना वे साल भर भी नहीं कर पाती है। मान लीजिए जैसे Jio है तो Jio इस IPL में ही अपने नए प्रोडक्ट जैसे Jio Giga Fiber को इतना Promote कर देगा जितना की वो साल भर में नहीं कर पाता ।

Why Winning Trophy Is So Important

लेकिन इतना सब जानने के बाद असली सवाल ये उठता है कि जब Franchise के पास कमाई के इतने सारे तरीके है, तो फिर क्या कारण है कि Winning Trophy के लिए ये जंग बहुत बड़ी होती है। जहां बात 100-100 करोड़ में हो रही है वहां सिर्फ 20 करोड़ की Prize Money के लिए ये Players जान क्यों लगा देते है? तो इसका जवाब है, वो ऐसा करते है अपनी और Team की Brand Value के लिए क्योंकि Tournament में टीम जितना आगे जाएगी उसकी उतनी ही ज्यादा fan Following बढ़ेगी और उतनी ही ज्यादा उनकी Brand Value भी बढ़ेगी। इसके साथ ही उतना ही ज्यादा और महंगा Sponsors और Ads Team को मिलेगा। इन्हीं सब वजहों से बड़े Players की मांग ज्यादा होती है क्योंकि वो ना सिर्फ अपनी Team का Scorecard बढ़ाते है। उसके साथ ही वो अपने Team के Owner का Bank Balance भी बढ़ाते रहते हैं।

IPL के Broadcasting में 1-1 सेकंड के Advertisement की कीमत लाखों और करोड़ों में होती हैं। IPL में सच में पैसा बरसता है और ये एक बहुत बड़ा Business है। इसी कारण से इतनी ज्यादा परेशानी के बावजूद भी IPL हो रही है और BCCI ऐसा बिल्कुल भी नहीं चाहती की उनका सोने के अंडे देने वाला ये Business एक साल भी बंद हो।

This Article Is Contributed By Sahil Kumar. Subscribe To His Youtube Channel For Some Great Informative Videos.

Leave your comments