Economy

Revival Of Economy

India is going through a phase of unprecedented economic crisis due severe disruptions caused by the coronavirus pandemic and the government needs to act fast to prevent India’s economy from sinking further. At present, the Indian economy is facing a volley of challenges including unemployment, historic GDP contraction, sharp slump in demand, high inflation and …

Revival Of Economy Read More »

CPEC हो सकती है- “Trillion Dollar Blunder”

वर्ष 2015 में, चीन के साथ बेहतर व्यापार, क्षेत्र के देशों को आगे बढ़ाने तथा पाकिस्तान के भीतर बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए China–Pakistan Economic Corridor (CPEC), जैसे बड़े पैमाने पर द्विपक्षीय परियोजना शुरू की गई थी। परंतु अब चीन की इस महत्वकांक्षी परियोजना CPEC को करोड़ों डॉलर का नुकसान उठाना पड़ सकता है। …

CPEC हो सकती है- “Trillion Dollar Blunder” Read More »

Corona और Unemployment की कहानी

भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा आबादी वाला देश है। दिन प्रतिदिन बढ़ती आबादी के कारण बेरोजगारों की संख्या लगातार बढ़ रही है। देशभर में Lockdown के कारण अर्थव्यवस्था ( Economy ) पहले ही ठप्प है, CMIE या Centre for Monitoring Indian Economy के अनुसार भारत में अभी बेरोजगारी दर 15.94% है। और अगर हम …

Corona और Unemployment की कहानी Read More »

An Immense Stress To Reinvigorate (पुनर्जीवित) – The Floundering India

Shape-up or Ship-out situation for suppliers !!  The horrifying state of the covid-19 pandemic is going to frighten India by its staggering economy.  AREAS EFFECTS #Core industries.                                                          (Coal, Crude Oil, Natural Gas, Refinery products,Fertilizers, Steel, Cement & Electricity)   Shrank by 6.5% #Fuel revenue Rs 40000 crore losses #Job  27 million  losses  THE CONTRACTION  IN MONEY FLOW IN ECONOMY  DUE TO LOCKDOWN #India Is Facing Liquidity Crisis. Liquidity Crisis ” is a financial situation characterized by a lack of cash or easily convertible to cash assets across economy. #Low Inflation Rate. India’s retail inflation rate is on a decline slipping 170 basis points ( 1 bps = 0.01% )  to 5.91% in March due to low demand in the Indian economy. Retail inflation measures the average price change in a basket of  commodities and services over time. Why Low Inflation (deflation ) Is DANGEROUS ? Many of us think that low price of product is good indicator of economic growth but it is not 100% right. Suppose a shopkeeper purchased the product A @ Rs. 100 to sell it in Rs. 120.  Due to unavoidable reason deflation occurs and he has to sell it in Rs 80 i.e less than the cost. Now, the consumers are happy but what about suppliers, if this situation continues then supplier will even not be able to bear the fixed cost of their business and will collapse. In this situation, suppliers  borrow money from the commercial banks. It’s favorable to the supplier, if Interest percentage on this loan is low or moderate .  RBI’s some important decision after considering supplier’s worry.  Repo rate cuts – Previously …

An Immense Stress To Reinvigorate (पुनर्जीवित) – The Floundering India Read More »

देश के आम आदमी के लिए गवर्नर का संदेश

पिछले सप्ताह किए गए प्रेस कॉन्फ्रेंस में RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कुछ अहम घोषणा की जिनमें देश की अर्थव्यवस्था की हालत से लेकर जनता को दिए जाने वाले लोन शामिल थे। देश की वर्तमान स्थिति के आधार पर Monetorium Policy Committee (MPC) द्वारा किए गए बैठक ने यह निर्णय लिया: Repo Rate घटकर …

देश के आम आदमी के लिए गवर्नर का संदेश Read More »

क्या ‘Atmanirbhar Bharat Abhiyaan’ पैकेज काफी है ?

रविवार को, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अर्थव्यवस्था को फिर से पटरी पर लाने के लिए 20 लाख करोड़ रुपये के ‘Atmanirbhar Bharat Abhiyaan‘ पैकेज का ऐलान किया। मोदी सरकार ने पैकेज की पांचवीं और आखिरी किश्त की घोषणा की। सबसे पहली बात करते है पैकेज में किन क्षेत्रों के लिए क्या है ? TRANCHE …

क्या ‘Atmanirbhar Bharat Abhiyaan’ पैकेज काफी है ? Read More »

कैसे बनेगा देश आत्म निर्भर ?

सरकार और रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ने कई सारे नए क्रियाकलापों की शुरुआत की है, अर्थव्यवस्था को वापस सही राह पर लाने के लिए, जिसमे सबसे बड़ा फैसला है देश की जीडीपी का 10% यानि 20 लाख करोड़ का आर्थिक पैकेज, जिसमे से 1.7 लाख करोड़ गरीब वर्ग के लोगो के खाने और उनको मदद …

कैसे बनेगा देश आत्म निर्भर ? Read More »

क्या भारत की कोरोना से जंग की निति काम कर रही है ?

प्रधानमंत्री ने भारत की अपेक्षात्मक कोरोना स्थिति की तुलना अन्य देशों से की है, जो इस वक्त आपदा का सामना कर चुके हैं। उन्होंने अपने निर्णायक गतिविधियों द्वारा निर्देशित कार्य “दुनिया के बड़े और शक्तिशाली देशों” के विपरीत किया है, जो इस भयंकर महामारी द्वारा पीड़ित है। श्री नरेंद्र मोदी के दावे में एक सच्चाई …

क्या भारत की कोरोना से जंग की निति काम कर रही है ? Read More »

अर्थव्यवस्था शराब की !!!

हम आधिकारिक रूप से लॉकडाउन के तीसरे चरण में है, और इस बीच राज्य सरकारों ने केंद्र सरकारों से शराब की दुकानों को दुबारा खोलने की अपील की है, जिसकी मंजूरी उन्हें केंद्र सरकार से मिल चुकी है। लॉकडाउन के कारण हर राज्य की वित्तीय स्थिति ख़राब चल रही है, अगर हम देश की राजधानी …

अर्थव्यवस्था शराब की !!! Read More »

लॉकडाउन : एक हल या समस्या ?

वैश्विक सूत्रों से ये समझ में आता है की यह लॉकडाउन भी करीब करीब उतने लोगो की ही जान ले रहा है जितना की वायरस, तो आंकड़ो के आधार पर यह कहना एक रूप में सही होगा की वायरस का इलाज भी एक तरह की बीमारी का रूप ले रहा है । फाइनेंशियल टाइम्स, लंदन …

लॉकडाउन : एक हल या समस्या ? Read More »